कृष्णा नगर में एक स्वास्थ्य अस्पताल पर लगे गंभीर आरोप

पूर्वी दिल्ली : [टाईम फॉर न्यूज़ -रवि डालमिया] पूर्वी दिल्ली के कृष्णा नगर में एक निजी अस्पताल से मानवता को शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है कृष्णा नगर स्थित स्वास्थ्य अस्पताल डॉक्टरों द्वारा एक बच्चे को इस लिए डिस्चार्ज नहीं किया गया क्यों की उसके पास पुरे पैसे नहीं थे I



बड़ी खबर- ज़रूरतमंद लोगों की मदत के लिए पीछे नहीं है ग्रेटर नोएडा का खैरपुर गुज्जर समाज


घटना पूर्वी दिल्ली के कृष्णा नगर स्थित में स्वास्थ्य अस्पताल नामक एक निजी अस्पताल की है जिसके मालिक डॉ. प्रकाश गुप्ता है  बताया जा रहा है विश्वास नगर के रहने वाले आदिल ने अपने छोटे बच्चे को स्वास्थ्य हॉस्पिटल में एडमिट किया था. जिसके बाद अस्पताल द्वारा  इलाज का करीब 21000 का बिल बनाया गया I लॉक डाउन के चलते आदिल के पास केवल १५००० रूपये ही जमा कर पाया जिसके चलते अस्पताल ने आदिल के छोटे बच्चे को डिस्चार्ज करने से साफ मना कर दिया I आदिल ने अस्पताल की बकाया रकम को लॉक डाउन खुलते ही जमा करने का भरोसा दिया लेकिन स्वास्थ्य अस्पताल के मालिक डॉ. प्रकाश गुप्ता ने साफ मना कर दिया I


क्या आपके बच्चों को बार-बार लग रही है बुरी नजर? तो तुरंत करें यह उपाय, उतर जाएगी नजर


मामला बड़ा तो मौके पर पहुंची पुलिस ने स्वास्थ्य अस्पताल के मालिक डॉ. प्रकाश गुप्ता को समझने की कोशिश की मगर डॉ. प्रकाश ने किसी की बात नहीं सुनी बल्कि बार बार बकाया राशि जमकर अपने बच्चे को ले जाने की बात कह रहे थे I डॉ. प्रकाश गुप्ता आरोप यह भी है की समझने पहुंची पुलिस कर्मियों के साथी अभद्र भाषा का प्रयोग किया I


सोचने का विषय यह है की एक तरफ मानवता को बचने के लिए देश के सभी डॉक्टर जी जान से लोगो की सेवा में लगे हुए है वही डॉ. प्रकाश गुप्ता जैसे डॉक्टर भी है जो चाँद पैसों के लिए अपने पेशे को बदनाम कर रहे है I


मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को मामले का संज्ञान लेना चाहिए तथा दोषियों के खिलाफ सख्त कानूनी करवाई होनी चाहिए.


 


ये भी पढ़ें- साधुओं के हत्यारों को फांसी की मांग : मोनू राघव


ये भी पढ़ें- अभिनेता ऋषि कपूर का निधन, बॉलीवुड शोक में डूबा


ये भी पढ़ें- इरफान खान का निधन, मुंबई के अस्पताल में तोड़ा दम


 



ताजा खबरों के लिए जुड़े रहें Time For News हिन्दी के साथ



 


Popular posts